SaharaSahara India Refund Apply OnlineMoney Refund

Sahara Money Refund: सहारा इंडिया में निवेशकों भुगतान को लेकर आई बड़ी खुशखबरी ।।

Sahara Money Refund: सहारा इंडिया में निवेशकों भुगतान को लेकर आई बड़ी खुशखबरी ।।

जो भी लोग सहारा इंडिया में पैसे को निवेश किया है उन सभी लोगों के लिए बड़ी खुशखबरी निकल कर आ रही है क्योंकि निवेशकों का भुगतान की प्रक्रिया बहुत जल्द होने जा रही है लगातार 5से 6 वर्षों से निवेशक परेशान है उनका पैसों को भुगतान नहीं हो रहा है ऐसे में काफी लोगों को भुगतान की प्रक्रिया अलग-अलग चरणों के माध्यम से हुआ है लेकिन दोबारा अब भूख दान की प्रक्रिया सभी निवेशकों को किया जाएगा तो चलिए जानते पूरी प्रक्रिया को !

Join Telegram Group

आज का न्यूज़ सहारा इंडिया

सहारा  निवेशक अलग-अलग राज्य में धरना प्रदर्शन दे रहे हैं सहारा निवेशक वर्तमान में पटना के धरना प्रदर्शन लगातार कर रहे हैं उन लोगों का कहना यह है कि जब तक भुगतान की प्रक्रिया नहीं होगी तब तक यह निरंतर यह आंदोलन चलता रहेगा । ऐसे में वहां का प्रशासन के साथ a.d.m. के द्वारा आश्वासन दिया गया है कि निवेशकों को भुगतान हर हाल में किया जाएगा इसके लिए जो भी प्रक्रिया होगी आगे किया जाएगा लेकिन निवेशक वहां लगातार आड़े हुए हैं कि जब तक भुगतान नहीं होगा हम लोग घर नहीं जाएंगे ।।

ये भी पढ़े :-  सरकार ने बीएलओ और सुपरवाइजर के मानदेय में दुगनी बढ़ोत्तरी का दिया प्रस्ताव,

बोर्ड (सेबी) ने एक दशक के दौरान सहारा की दो कंपनियों के निवेशकों को 138 करोड़ रुपये का रिफंड किया है. पुनर्भुगतान के लिए विशेष रूप से खोले गए बैंक खातों में जमा राशि बढ़कर 24,000 करोड़ रुपये से अधिक हो गई है. सेबी ने अपनी हालिया वार्षिक रिपोर्ट पर में यह जानकारी दी. Sahara Money Refund

सेबी ने वार्षिक रिपोर्ट में कहा बेंगलुर कि उसे 31 मार्च, 2022 तक 19,650 कर्नाटक आवेदन प्राप्त हुए, जिसमें रिफंड के लाख क कुल 82.31 करोड़ रुपये के दावे योजना शामिल थे. इसमें से उसने 17,526 जिंदल मामलों में 68 करोड़ रुपये के ब्याज निवेशक सहित 138 करोड़ रुपया का रिफंड जारी किया है ।

सेबी का बड़ा ऐलान ।

सूत्रों से मिली खबर के अनुसार सेबी ने बताया है कि मार्च में ही 121 करोड़ रूपया रिफंड किया है ।

10 करोड़ का चेक बाउंस हो चुका है।

निवेशकों के रकम वापसी में जिला प्रशासन की लापरवाही भी सामने आई है। सहारा के चार डायरेक्टर्स को जब गिरफ्तार किया गया, तब उन्होंने कोर्ट में 15 करोड़ रुपए वापस देने की बात कही थी। इसी शर्त पर उन्हें कोर्ट से जमानत दी गई थी। तब डायरेक्टर्स ने जिला प्रशासन को 10 करोड़ का चेक दिया था। लेकिन प्रशासन ने चेक को लंबे समय बाद क्लीयरेंस के लिए नही लगाया। जिससे 10 करोड़ का चेक बाउंस हो गया।

इस तरह निकालना होगा निवेशकों का पैसा

यह देखा जा रहा है कि अलग-अलग चरणों के माध्यम से सहारा निवेशकों का भुगतान अलग-अलग राज्य में किया जा रहा है इसके लिए निवेशक अपने नजदीकी जिला पदाधिकारी की सहायता की मदद से 1000000 से नीचे तक पैसा निकाल रहे हैं यह देखा जा रहा है कि ज्यादातर पैसा बड़े लोगों को निकाला जा रहा है जैसे डॉक्टर कोई अधिकारी एवं अन्य लोगों को पैसा का भुगतान किया जा रहा है गरीब लोगों का भुगतान अभी तक एक का भी नहीं हुआ है सबसे बेहतर सबसे अच्छा माध्यम अपने नजदीकी डीएम जिला पदाधिकारी से मिलकर पैसे का भुगतान करवा सकते हैं ।

ये भी पढ़े :-  Gold-Silver Price Today: गोल्ड-सिल्वर हुआ सस्ता, जानें सोने-चांदी की आज की कीमत

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *