Sahara india news

Sahara india news :- सहारा के 10 करोड़ निवेशकों का पैसा लौटाने में जुटी है सरकार 5 महीने में ही चेक के माध्यम से मिलेगा पैसा

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि सहारा इंडिया पिछले 12 सालों से सभी निवेशकों का पैसा लौट आने में असमर्थ साबित हो रहा है आपके जानकारी के लिए मैं आ बता तू भी सहारा इंडिया भारत के लगभग बहुत बड़ा कंपनियों में से एक है सहारा इंडिया की 4 सोसाइटी में 10 करोड़ निवेशकों के हजारों करोड़ रूपया बरसों से अटके हैं सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद दिसंबर से पहले तक सारे पैसे लौटाने का आदेश जारी कर दिया गया है जिसके बाद गृह मंत्री अमित शाह के निर्देश पर मंत्रालय पैसे वापस की प्रक्रिया पूरी करने में जुटी है प्रयास है कि 4 से 5 महीने में सारे पैसे निवेश को तक लौटा दिया जाएगा

Sahara india news

आपकी जानकारी के लिए मैं यह बता दूं कि मंत्रालय की पारिवारक कब आया था के मुताबिक निवेशकों को चेक के माध्यम से पैसा लौटाया जाएगा वापसी की प्रक्रिया जल्द ही शुरू होगी वास्तविक निर्देशों की को उचित पहचान और सुरक्षा प्रस्तुत करने के बाद ही भुगतान किया जाएगा निवेश को फीस जमा राशि और उनके दावों के मिलान के बाद ही उसे बैंक खातों में जमा किया जाएगा

हमारे WhatsApp Group मे जुड़े👉 Join Now

हमारे Telegram Group मे जुड़े👉 Join Now

सहारा इंडिया जिस 4 सहकारी समितियों में निवेश किया गया था उनमें सहारा क्रेडिट कोआपरेटिव सहारा एनिवर्सरी मल्टी हमारा इंडिया क्रेडिट कोऑपरेटिव और स्टार्ट मल्टीपल शामिल है सबसे अधिक पैसा सहारा क्रेडिट कोआपरेटिव में निवेश किया गया था केंद्र रजिस्टर कार्यालय के पास जो जानकारी मिल रही है उसके मुताबिक सोसाइटी ओ में निवेशकों का 86000 673 करोड़ रुपया निवेश किया गया था।

ये भी पढ़े :-  LPG Gas News:- घरेलू LPG गैस सिलेंडर 400 रुपये सस्ता, रक्षाबंधन पर बहनों को मोदी सरकार का तोहफा

सहारा सेबी के रिफंड खाते में अभी निवेशकों के 24000 किलो रुपया से ज्यादा जमा है केंद्र सरकार की पहली बार सुप्रीम कोर्ट में इनमें सेव 5000 करोड़ रूपया को केंद्र रजिस्टर के खाते में ट्रांसफर करने का निर्देश दिया है वैद्य निवेशकों को उसकी पहचान और जामा के उचित प्रमाण के आधार पर ही बैंक खातों के माध्यम से निवेशकों का पैसा भुगतान किया जाएगा चार सोसाइटी में हुआ निवेश को बहुत ही जल्द पैसा मिलने जा रहा है।

सहारा के सोसाइटी ओ में निवेश करने वाले चार अधिकतम उत्तर प्रदेश उत्तराखंड बिहार झारखंड हरियाणा पंजाब तथा मध्य प्रदेश समेत कई राज इनमें पैसा वापसी को लेकर राज्यों में लगातार आंदोलन चल रहा है पैसा जमा करने वाले अधिकतर लोग गरीब गुरवे और माध्यमिक वर्ग या निम्न आय वर्ग के हैं जिसके लिए यह सुकून वाली बात है क्योंकि उन्हें बकाया पैसा जमा समेत मिलने को लेकर भुगतान से पहले निवेशक दावत को सत्यापन जरूरी होगा

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *