Free Education For Girls

Free Education For Girls: बेटियों को सरकार देगी ₹25000 प्रति माह

Free Education For Girls: आज इस आर्टिकल के जरिए हम आप सभी लोगों के समक्ष राज्य सरकार तथा केंद्र सरकार के द्वारा लाए कुछ योजनाओं के बारे में बताने वाले हैं. जिसके तहत छात्र पूरी तरह से मुक्त शिक्षा प्राप्त करने हेतु सक्षम है. किंतु एक बात का स्मरण सभी को रहे, की यह योजनाएं उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश, हरियाणा समेत अलग-अलग राज्यों की हैं. यदि इस योजना के तहत आने वाले लाभार्थियों की बात की जाए. तो इसमें केजी से लेकर पीजी तक के विद्यार्थी इन योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सकते हैं.

इस योजना से जुड़ी कुछ आवश्यक तथ्य

  • गरीब तथा पिछड़े वर्ग के परिवारों तक शिक्षा को पहुंचाने के वास्ते इन योजनाओं की शुरुआत करी गई है.
  • देश की बेटियों के समय सच में परिवर्तन करने के वास्ते सीबीएसई ने प्रारंभ की है उड़ान योजना.
  • यूपी सरकार मतलब के उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश की बेटियों को प्रदान किया एक बेहतर उपहार की जिसे लेकर बेटियों की शिक्षा हो जाएगी फ्री.

हमारे देश में लड़कियों की शिक्षा

शिक्षा तथा सशक्तिकरण, आज के समय में इसके सर्वाधिक आवश्यकता बेटियों को है. यह एक ऐसा मुद्दा है. जो कि हर समय समाज में चर्चा में रहता है. जानकर भले ही आश्चर्य हो. किंतु आज भी समाज में ऐसा तबका मौजूद है. जहां पर बेटियों के प्रति नकारात्मक सोच तथा रवैया रखा जाता है. जिसके परिणाम स्वरूप उन्हें शिक्षा जैसे मौलिक अधिकारों से पूरी तरह से वंचित कर दिया जाता है. शिक्षा एक मात्र ऐसा रास्ता है.

Join Telegram Group

जिससे कि नारी विकास तथा सशक्तिकरण में जोर दिया जा सकता है. इसी कड़ी में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की छात्राओं को बिल्कुल फ्री में शिक्षा प्रदान के वास्ते केंद्र सरकार तथा राज्य सरकार की ओर से कई सारी योजनाएं तथा स्कॉलरशिप प्रारंभ कि गई है.

उत्तर प्रदेश राज्य के सीएम मतलब के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की सरकार में मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग की बेटियों को जन्म से लेकर के ग्रेजुएशन तक की पढ़ाई के वास्ते आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है. वहीं दूसरी और अगर देखे तो कि राज्य सरकार की ओर से बेटियों की शिक्षा व स्वास्थ्य के वास्ते एक बहुत ही ज्यादा विशेष योजना शुरू की गई है. किंतु इन योजनाओं के प्रति जागरूकता ना होने के परिणाम स्वरुप, इससे बहुत सारे पात्र लोग पूरी तरह से वंचित है.

सीबीएसई उड़ान योजना

देश में उपस्थित अनगिनत बेटियों के सपनों को पंख प्रदान करने के वास्ते केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने सीबीएसई उड़ान योजना प्रारंभ कर दी है. इस योजना के अंतर्गत आने वाले छात्रों को इंजीनियरिंग कॉलेज में दाखिला लेने के वास्ते, बोर्ड स्कॉलरशिप उपलब्ध कराती है. इसके साथ ही महंगे किताबें तथा अन्य सुविधाएं भी बोर्ड की ओर से प्रदान करवाई जाती है.

वैसे तो इसके वास्ते छात्रा को कक्षा बारहवीं के बाद एक टेस्ट क्वालीफाई करना पड़ता है. इसके पश्चात इस योजना का लाभ उन्हें मिलेगा. अगर इस योजना के मुख्य उद्देश्य की बात की जाए. तो इसका मुख्य उद्देश है, कि लड़कियों के भीतर लीडरशिप की भावना को उत्पन्न किया जा सके. इसके साथ ही इन क्षेत्रों में लड़कियों की भागीदारी भी बढ़ाई जा सके.

कन्या सुमंगला योजना 2022 (Kanya sumangala Yojana 2022) , मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की सरकार ने लगातार दूसरी बार ही प्रदेश की बागडोर संभालते हुए स्वास्थ्य तथा शिक्षा के क्षेत्र में एक और कदम बढ़ाया है. एक और जहां पर स्कूल चलो अभियान के अंतर्गत गांव के बच्चों को स्कूल के वास्ते प्रेरित किया जाता है. वही मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत गरीब तथा आर्थिक रूप से पिछड़े बेटियों को जन्म से लेकर स्नातक तक की पढ़ाई के वास्ते आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है.

कितने रुपयों की मिलेगी सहायता

₹300000 सालाना आय वाले परिवार में जन्म ली बेटियों को राज्य सरकार कई किश्तों में ₹15000 प्रदान करती है. बेटियों के जन्म के पश्चात सरकार अभिभावक को ₹2000 प्रदान करती है. टीकाकरण के बाद अभिभावक को ₹1000 प्रदान किए जाते हैं. वहीं अगर पहली कक्षा में एडमिशन कराया जाए, तो ₹2000 कक्षा 6 में एडमिशन करवाया जाता है. तो ₹2000 और कक्षा नौवीं में एडमिशन लेते समय ₹3000 एकमुश्त धनराशि दी जाती है. वहीं अगर 12वीं की बात करें. तो 12वीं के पश्चात तक की पढ़ाई के वास्ते ₹5000 की धनराशि उपलब्ध कराई जाती है.

free education for girls

हरियाणा चिराग योजना

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के छात्रों के वास्ते हरियाणा की खट्टर सरकार की ओर से चिराग योजना की शुरुआत की गई है. जिससे कि गरीब तथा पिछड़े वर्ग के परिवारों तक शिक्षा को भी पहुंचाया जा सके. इस योजना के अंतर्गत राज्य के सरकारी व प्राइवेट स्कूल में पहले से बारहवीं तक मुफ्त शिक्षा प्राप्त कर सकता है. इसके अंतर्गत हरियाणा के 381 प्राइवेट स्कूलों को शामिल किया गया है.

किंतु स्मरण रहे थी इसके वास्ते छात्र हरियाणा के मूल निवासी होना बहुत ज्यादा जरूरी है. इसके साथ ही अभिभावक की सालाना आय ₹180000 से कम होनी चाहिए. इस योजना का लाभ उठाने के वास्ते ऑनलाइन रूप से भी आवेदन किया जा सकता है, और इस योजना को साल 2021 में प्रारंभ किया गया था.

करोना काल में जिन भी छात्रों ने अपने माता पिता को खो दिया था. उनके वास्तविक केंद्र सरकार ने मुफ्त शिक्षा व्यवस्था को प्रारंभ कर दिया है. ऐसे में छात्र का एडमिशन ईडब्ल्यूएस श्रेणी के तहत किया जाएगा. इसके साथ ही दिल्ली के प्राइवेट स्कूल में भी इसे लागू कर दिया गया है. ऐसे छात्रों को ईडब्ल्यूएस श्रेणी में सम्मिलित किया गया है.

लाड़ली लक्ष्मी योजना

राज्य की बेटी को शिक्षित तथा सशक्त बनाने के वास्ते इस योजना की शुरुआत मध्यप्रदेश में साल 2007 में ही कर दी गई थी. इसके तहत बिटिया जन्म के पश्चात पहले 5 सालों में लगातार ₹6000 लाड़ली लक्ष्मी योजना की निधि में जमा करी जाएगी. वहीं कक्षा छठी में प्रवेश लेने के पश्चात बेटी को ₹2000 की सहायता दी जाएगी. 9वी में प्रवेश करने के समय ₹4000 प्रदान किए जाएंगे. 11वीं तथा 12वीं में ₹6000 के दो बार भुगतान करी जाएगी. किंतु इस योजना से लाभ प्राप्ति हेतु मध्य प्रदेश का मूल निवासी होना आवश्यक है.

निष्कर्ष:-

आज के इस आर्टिकल में हमने आप लोगों के समक्ष कुछ ऐसी योजनाएं प्रस्तुत करी है. जिसका मुख्य उद्देश्य शिक्षा को प्रत्येक तक पहुंचाना है. हम आशा करते हैं, कि हमारा यह प्रयास आपको बहुत ही अधिक पसंद आया होगा.

महत्वपूर्ण पोस्ट:-

Important Links

Official website Click Here
Join Telegram Channel Click Here

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *