Deled Course Closed : अब बीएड और डीएलएड कोर्स होंगे बंद, सरकार का आदेश जारी

Deled Course Closed

हरियाणा सरकार ने नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2020 (Deled Course Closed) का हवाला देते हुए डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन (डीएलएड) कोर्स को बंद करने के आदेश जारी किए है। इस कोर्स को बंद करने से संबंधित राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद, हरियाणा ने शैक्षणिक स्तर 2023-25 से बाइट/गैटी व प्राइवेट स्व वित पोषी संस्थाओं में डी. एल. एड. कोर्स बंद करने के संबंध में प्रेस नोट जारी किया है जिसमें लिखा गई है की “राज्य के सभी बाईट / गैटी व स्वयंपोषित संस्थान को मौलिक शिक्षा निदेशालय से प्राप्त क्रमांक 6/8-2016 DIET(2) दिनांक 17-11-2022 की प्रति सूचनार्थ व आवश्यक कार्यवाई हेतु प्रेषित है।”

Join Telegram Group

डीएलएड कोर्स बंद करने के संबंध में यह ऑफिसियल आवेश संयुक्तनिदेशक एस. सी. ई. आर. टी. हरियाणा के नाम से जारी किया गया है। इस आदेश की पीडीएफ़ फाइल डाउनलोड करने का लिंक इस पोस्ट के अंत में उपलब्ध करवाया गया है। जहां से इसकी पीडीएफ़ फाइल डाउनलोड कर सकते है।

हमारे WhatsApp Group मे जुड़े👉 Join Now

हमारे Telegram Group मे जुड़े👉 Join Now

Deled Course Closed

सांसद रणदीप सिंह सुरजेवाला ने डीएलएड/JBT कोर्स बंद करने को लेकर ट्वीट किया है। सुरजेवाला ने ट्वीट करते हुए कह कि “युवाओं को रोजगारपूरक शिक्षा देना ही बंद कर दी ताकि युवा रोजगार के लिए सक्षम ही ना हो। BJP/JJP सरकार ने डीएलएड/JBT कोर्स बंद करने का फरमान हरियाणा के लाखों युवाओं के भविष्य से कुठाराघात तो है ही, सरकारी/निजी शिक्षण संस्थानों के हजारों कर्मचारियों की रोजी पर क्रूर वार भी है।”

अब तक प्री प्राइमरी स्तर के टीचर बनने के लिए डीएलएड जरूरी था। अपर प्राइमरी से सेकेंडरी स्तर तक शिक्षण के लिए बीएड करना अनिवार्य था। इस बीच एनसीटीई ने चार वर्षीय इंटिग्रेटेड टीचर एजुकेशन प्रोग्राम(आईटीईपी) शुरू कर दिए हैं। जिसके अंतर्गत 12 कक्षा के बाद 4 साल का कोर्स होगा जिसमें बिएससी बीएड, बीए बीएड, बीकॉम बीएड कोर्स करवाया जाएगा।

ये भी पढ़े :-  Petrol Diesel Prices : यूपी से बिहार तक सस्‍ता हुआ पेट्रोल-डीजल, चेक करें अपने शहर का ताजा रेट

एनसीटीई ने दो नए पाठ्यक्रम लांच किए हैं, जिनकी संबद्धता सत्र 2019-20 से मिलेगी। फिलहाल दो वर्षीय बीएड और एक वर्षीय डीएलएड कोर्स चलता रहेगा। अभी एनसीटीई ने इन्हें बंद करने की कोई घोषणा नहीं की है। एनसीटीई का कदम सराहनीय है। अब शिक्षण के क्षेत्र में केवल वही युवा आएंगेजिनकी पहले से इस क्षेत्र में रुचि होगी। आने वाले समय में केवल सरकारी नौकरी के लिए डिग्री लेने का प्रचलन निश्चित तौर पर खत्म होगा।

Important Links

Official Order Click Here

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *