BSSC CGL Exam 2022 : सचिवालय सहायक परीक्षा के वायरल प्रश्न-पत्र की जांच करेगी EOU, परिक्षा रद्द..?

BSSC CGL Exam 2022 : सचिवालय सहायक परीक्षा के वायरल प्रश्न-पत्र की जांच करेगी EOU, रद्द हो सकती है परीक्षा

BSSC CGL Exam 2022 Paper Leak :बिहार कर्मचारी चयन आयोग की तृतीय स्नातक स्तरीय संयुक्त प्रारंभिक परीक्षा रद्द हो सकती है। आयोग ने वायरल प्रश्न मामले की जांच आर्थिक आपराध इकाई (ईओयू) को सौंप दी है। ईओयू

Join Telegram Group

हमारे WhatsApp Group मे जुड़े👉 Join Now

हमारे Telegram Group मे जुड़े👉 Join Now

BSSC CGL Exam 2022 Paper Leak :बिहार कर्मचारी चयन आयोग की तृतीय स्नातक स्तरीय संयुक्त प्रारंभिक परीक्षा रद्द हो सकती है। आयोग ने वायरल प्रश्न मामले की जांच आर्थिक आपराध इकाई (ईओयू) को सौंप दी है। ईओयू को आयोग ने कुछ तथ्य भी भेजे हैं। इसकी जांच शुरू कर दी गई है। हालांकि आयोग के सचिव सुनिल कुमार ने अभी परीक्षा को रद्द करने की बात नहीं कही है। उन्होंने बताया कि परीक्षा को लेकर आयोग काफी गंभीर व संवेनशील है। यदि प्रश्न पत्र केन्द्र से बाहर आने और इससे परीक्षा प्रभावित होने की बात थोड़ी भी सही पाई गई तो प्रथम चरण की परीक्षा रद्द करने में विलंब नहीं किया जाएगा।

आयोग के अनुसार, परीक्षा सुबह दस बजे से शुरू हुई थी। इसका पेपर 11 बजकर नौ मिनट पर वायरल हो गया था। परीक्षा का जो पेपर वायरल हुआ है। उसका मिलान करने पर सही पाया गया। वहीं, आयोग के अनुसार परीक्षा में कुछ प्रशासनिक त्रुटियां सामने आई है इसके संबंध में कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि शनिवार को होने वाली परीक्षा को स्थगित नहीं की गयी है। वह निर्धारित समय पर होगी। इधर, शिक्षा मंत्री प्रो. चन्द्रशेखर ने भी बयान जारी कर कहा कि पहले मामले की जांच की जाएगी। अगर जांच में कुछ गड़बड़ी पायी गयी तो परीक्षा रद्द की जाएगी।

ये भी पढ़े :-  School College Holidays: दुबारा बंद होगी सभी स्कूल कॉलेज ।।

शुक्रवार को राज्य के 38 जिलों के 538 केन्द्रों पर दो पालियों में परीक्षा हुई। दोनों पालियों को मिलाकर साढ़े पांच लाख से अधिक परीक्षार्थी इसमें शामिल हुए। पहली पाली में ही पेपर लीक होने की अफवाह उड़ती रही। प्रश्न-पत्र वायरल होता रहा। हालांकि दूसरी पाली की परीक्षा शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न हुई। छात्रों का आरोप है कि जब प्रश्न-पत्र बाहर नहीं आया था तो यह वायरल कैसे हुआ। परीक्षार्थी और छात्र संगठनों ने पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है।

 

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *